नैनीताल कोआपरेटिव बैंक से धोखाधड़ी पर मुक़दमा दर्ज

नैनीताल कोआपरेटिव बैंक से धोखाधड़ी पर मुक़दमा दर्ज
नैनीताल कोआपरेटिव बैंक से धोखाधड़ी पर मुक़दमा दर्ज
नैनीताल कोआपरेटिव बैंक से धोखाधड़ी पर मुक़दमा दर्ज
नैनीताल कोआपरेटिव बैंक से धोखाधड़ी पर मुक़दमा दर्ज

श्री दीवान सिंह बिष्ट शाखा प्रबंधक नैनीताल डिस्ट्रिक्ट कोपरेटिव बैंक द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर थाना मुखानी में अज्ञात व्यक्ति द्वारा कटघरिया स्थित शाखा के एटीएम से धोखा धड़ी कर 69900 /- रुपए की धनराशि निकालकर शाखा को आर्थिक हानि पहुंचाई जाने के सम्बन्ध में थाने में मुकदमा अपराध संख्या 116/17 धारा 66 आईटी एक्ट/ 420 भादवि बनाम अज्ञात में पंजीकृत किया गया ।

उक्त घटना को संवेदनशीलता देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल द्वारा श्री अमित श्रीवास्तव अपर पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी के निर्देशन व श्री दिनेश ढौडियाल क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी के पर्यवेक्षण में श्री कमाल हसन थानाध्यक्ष मुखानी एवं श्री दिनेश पंत प्रभारी एस०ओ० जी० नैनीताल के नेतृत्व में संयुक्त टीम उप निरीक्षक कैलाश सिंह नेगी चौकी प्रभारी लामाचौड़, ASI विनोद घई थाना बनभूलपुरा, ASI सत्येंद्र प्रसाद गंगोला एसओजी ,कॉस्टेबल अनिल गिरी ,कांस्टेबल रियाज अख्तर, कांस्टेबल कुंदन कठायत, कांस्टेबल चंद्र शर्मा ,कॉस्टेबल गगनदीप सिंह, कांस्टेबल गणेश सिंह, कांस्टेबल गणेश,कांस्टेबल एहसान अली आदि टीम के रूप में गठन किया गया।

पुलिस की संयुक्त टीम ध्दारा घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों की पतारसी सुरागरसी करते हुए तकनीकी एवं मैनुवली सूचना डेवलेप करने पर उक्त घटना में उत्तर प्रदेश के गैंग का हाथ होने की जानकारी हासिल हुई जिस पर संयुक्त टीम द्वारा उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में दबिश दी गयी तो संदिग्ध व्यक्ति अपने निवास के क्षेत्र से गायब होना पाए गए। टीम द्वारा व्यक्ति की पतारसी सुरागरसी करते हुए मुखबिर की सूचना के आधार पर आज दिनांक 16 दिसंबर 2017 को Indigo CS संख्या यूपी 78डी०आर०- 9077 मैं बैठे अभियुक्त अर्जुन पोरवाल पुत्र स्वर्गीय राधेश्याम निवासी सफीपुर रामादेवी कानपुर थाना चेकरी हरजिंदर नगर कानपुर उत्तर प्रदेश उम्र 34 वर्ष संजय सिंह यादव पुत्र श्री मलखान सिंह निवासी ग्राम लिलेरा पोस्ट देवलान थाना गाजीपुर जिला फतेहपुर उत्तर प्रदेश उम्र 29 वर्ष को पंतनगर तिराहा उधम सिंह नगर से गिरफ्तार किया गया।

उक्त घटित घटना का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल द्वारा बताया गया कि यह लोग दो प्रकार के घटना को अंजाम देते हैं|

1- फर्जी अकाउंट के आधार पर हासिल किए गए ATM कार्ड
2- ऐसे गरीब व्यक्ति जिनके पास ATM कार्ड तो है परंतु खाते में पैसे नहीं हैं उन से मेलजोल कर उन्हें कुछ धन राशि देकर उनका ए०टी०एम० कार्ड ले लेते हैं उसके पश्चात इन्हें जिस क्षेत्र में घटना को अंजाम देना होता है उस क्षेत्र में जाकर मोबाइल ऐप के जरिए जहां जहां पर एटीएम मशीन लगी होती है उनकी पूर्ण जानकारी ले कर विशेषतः एनसीआर कंपनी के एटीएम को टारगेट कर उसमें कार्ड इन्सर्ट कर पासवर्ड डालते हैं जैसे ही मशीन में प्रोसेसिंग की आवाज होती है और पैसे निकलने वाले स्थान से स्लॉट खुलता है तभी यह ATM मशीन का स्विच ऑफ कर देते हैं और रुपए बीच में ही फंस जाते हैं उसके पश्चात यह अपनी उंगलियों की सहायता से मशीन के अंदर की धनराशि निकाल लेते हैं|

इनके द्वारा अब तक मध्यप्रदेश के भोपाल में कैनरा बैंक, हरियाणा में कॉपरेशन बैंक, दिल्ली में बैंक ऑफ बड़ौदा ,उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से लाखों रुपए निकाले जा चुके हैं उक्त गैंग का मास्टरमाइंड अर्जुन पोरवाल है जो कि पूर्व में भी इस प्रकार के अपराध में खरार पंजाब में गिरफ्तार हो चुका है इनके अन्य साथी आशीष, शोभित भोपाल मध्य प्रदेश की घटना में भी वंचित चल रहे हैं इनके अन्य अपराधिक इतिहास एवं साथियों के बारे में अंकित पते के अतिरिक्त अन्य राज्यों से भी जानकारी प्राप्त की जा रही है ताकि उनके विरुद्ध विधिक कार्रवाई की जा सके

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*