सेंचुरी को राष्ट्रीय उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार मिला

सेंचुरी को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार मिला
सेंचुरी को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार मिला

सेंचुरी को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार मिला
सेंचुरी को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार मिला

सेंचुरी पल्प एण्ड पेपर मिल ने पावर सेंविंग में राष्ट्रीय पुरुस्कार प्राप्त करके देश व दुनियां के मानस पटल पर अद्भूत मिशाल कायम कर कर्म के प्रति निष्ठ़ा की ध्वज पाताका फहराकर एक अनोखा कीर्तिमान स्थापित किया।समूचे देश में प्रथम पुरुस्कार के रुप में कीर्ति हासिल करनें पर क्षेत्रं में प्रसन्नता की लहर है।मिल सहित शहर का नाम देश दुनियां में रोशन होने से मिल के सीईओ श्री जे० पी० नारायण को बधाई देनें वालों का क्रम जारी है।मिल के अधिकारी व कर्मचारी भी इस उपलब्धि से गौरवानवित है।सहज कर्मयोग के धनी,उद्योग जगत में अपनी निति निपुर्णता के लिए ख्याति प्राप्त सेंचुरी पल्प एण्ड़ पेपर मिल के मुख्य संचालन अधिकारी श्री जयप्रकाश नारायण की अगुवाई में प्राप्त इस पुरुस्कार के हासिल होनें से सेंचुरी ने ऊर्जा बचत का उद्योग जगत को शानदार संदेश दिया है।उल्लेखनीय है,कि राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में ऊर्जा संरक्षण से जुड़े  भारत सरकार के  तमाम वरिष्ठ अधिकारियों ने सेंचुरी पल्प एंड पेपर मिल को  पेपर उद्योग के क्षेत्र देश में सबसे अधिक बिजली की बचत करने पर राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण के तहत बेस्ट परफॉर्मेंस टर्म्स ऑफ एनर्जी सेविंग में प्रथम स्थान से नवाजा है।जो कारखानें के लिए गौरव का विषय है।

 राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के अवसर पर विज्ञान भवन नई दिल्ली में  आयोजित कार्यशाला में राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण में विशिष्ट योगदान देने वाली जहां तमाम कंपनियों को उनके परफॉर्मेंस के आधार पर सम्मानित किया गया।वहीं जिसमें पल्प एंड पेपर सेक्टर में सेंचुरी पेपर मिल को देश में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। जिसके तहत मिल के मुख्य संचालन अधिकारी जेपी नारायण को बेस्ट परफॉर्मेंस इन टाइम्स ऑफ़ एनर्जी सेविंग अवार्ड से नवाजा गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में आयोजित उक्त कार्यक्रम के दौरान देश भर के ऊर्जा संरक्षण करने वाले उद्योगों को सम्मानित करने वाले वरिष्ठ अधिकारियों में  डायरेक्टर जनरल ब्यूरो ऑफ ऊर्जा संरक्षण भारत सरकार अभय बाकरे, सचिव ऊर्जा मंत्रालय अजय भल्ला व आरके सिंह, ब्यूरो ऑफ एनर्जी के निदेशक अशोक कुमार सहित तमाम उच्च अधिकारी मौजूद थे।

 इधर राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के अवसर पुरस्कार प्राप्त कर दिल्ली से लौटे सेंचुरी मिल के मुख्य संचालन अधिकारी जेपी नारायण ने मिल के मानव संसाधन विभाग में आयोजित ऊर्जा संरक्षण कार्यक्रम के दौरान कहा कि कल कारखानों का मूल आधार ही ऊर्जा है। इसके बिना उद्योग चल नहीं सकते। साथ ही ऊर्जा का संरक्षण भी अत्यंत आवश्यक है। ऊर्जा की जितनी जरूरत होती है उतना ही उपयोग कर ऊर्जा का संरक्षण करने वालों को जहां अत्यंत लाभ पहुंचता है।

वही ऊर्जा के अधिक संरक्षण से पूरे क्षेत्र को लाभ होता है। उन्होंने मिल के अधिकारी और कर्मचारियों से आह्वान किया कि जिस प्रकार वह पिछले वर्षों से ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में कार्य करते आ रहे हैं उसी प्रकार आगे भी अपना कार्य जारी रखें। ताकि मिल को पुनः इस प्रकार का राष्ट्रीय गौरव सम्मान प्राप्त हो सके। इधर मिल के वरिष्ठ़ प्रशासनिक अधिकारी श्री सत्यदेव बहुगुणा,एच०के० पात्रा,अनिल सेतिया,नरेश चन्द्र,शुभाष शर्मा,एस० के० बाजपेई,एम० पी० श्रीवास्तव,हेमेन्द्र राठौर आदि का कहना है राष्ट्रीय स्तर पर मिल को प्रथम पुरुस्कार मिलना हम सभी के लिए सौभाग्य की बात है।

उल्लेखनीय है,कि सेंचुरी पल्प एण्ड़ पेपर मिल के मुख्य संचालन अधिकारी जय प्रकाश नारायण को राज्य के *उद्योग अलकंरण की उपाधी से नवाजा जा चुका है।उन्हें यह अतुलनीय सम्मान उनकी कर्तव्यनिष्ठा व कार्य कुशलता में निपुर्णता,एंव लोक कल्याणकारी कर्मों के प्रति सजगता व उद्योग जगत में अभूतपूर्व कार्य करने की अदितीय दक्षता,व योग्यता के लिए दिया गया था।

उत्तराखण्ड़ के प्रथम मुख्यमंत्री स्व० नित्यानंद स्वामी की 88वीं जयंती के अवसर पर देहरादून में 27दिसम्बर मंगलवार को आयोजित स्वच्छ राजनीति सम्मान समारोह कार्यक्रम में तालियों के आभामण्डल की जोरदार करतल ध्वनि के बीच उन्हें उद्योग अलंकरण प्रदान किया गया था।

नित्यानंद स्वामी जनसेवा समिति द्वारा देहरादून के सर्वे ऑफ इंडिया ऑडिटोरियम में मंगलवार को आयोजित स्वच्छ राजनीति सम्मान समारोह में परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के स्वामी चिदानंद सरस्वती व सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चंद्र खंडूरी ने उन्हें यह अलकरण देकर सम्मानित किया था। अभी कुछ महीनें पूर्व ही सेंचुरी मिल के एचआर हेड पात्रा ने विश्व में किया लालकुआं का नाम रोशन किया था।

ज्ञातव्य हो कि मुबंई के ताज लैडस में आयोजित विश्व मानव संसाधन काग्रेसं के रजत जयंती महोत्सव में उनकी कार्यकुशाग्रता के लिए उन्हें यह अवार्ड प्रदान किया गया था ।कार्यक्रम में 127 देशों के1500 एचआर प्रतिनिधि शामिल हुए थे,जिनमें भारत की ओर से सेन्चुरी पल्प एण्ड़ पेपर मिल लालकुआं के एचआर हेड एचके पात्रा ने प्रतिनिधित्व कर प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया था।उन्हें मानव संसाधन विकास पर बेहतर कार्य करने,उघोग जगत में विभिन्न क्षेत्रों में अतुलनीय कार्यकुशाग्रता की निपुर्णता पर वर्ल्ड एचआरडी काग्रेसं ने कारपोरेट इंफ्रास्टकचर को नई दिशा देने पर प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया था।पुरूस्कारों की श्रृखंला में एक बार फिर प्रथम राष्ट्रीय पुरुस्कार मिलनें से सेंचुरी परिवार व क्षेत्र गौरवानिवत है।मिल के विभिन्न श्रमिक संगठन, क्षेत्र के विभिन्न सामाजिक संगठन, जनप्रतिनिधियों ने मिल परिवार को बधाई दी है बधाई का क्रम जारी है।

Search Now

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*